WHO IS MIPA GENGESTER KAITHAL आखिर क्यों भड़का रहा है संप्रदायिक दंगा 2020

 WHO IS MIPA GENGESTER KAITHAL आखिर क्यों भड़का रहा है संप्रदायिक दंगा

MIpa Bangaru kaithal

संदीप उर्फ mipa Bangaru narend कौन है और यह है सांप्रदायिक दंगों को क्यों बढ़ता रहा है अगर आप इन सवालों के जवाब जानना चाहते हैं तो हमारे द्वारा लिखे गए इस आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़ें आज के समय में सोशल मीडिया एक बहुत अच्छा माध्यम बन चुका है समाज और अपने मित्रों तक पहुंचने का यहां तक कि पूरी दुनिया में आप सोशल मीडिया के माध्यम से पहुंच सकते हैं परंतु आज के समय में Sandeep/mipa Bangaru / mipa gangster जैसे समाज में गलत सोच के युवा जो सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक दंगों को भड़काने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं

NOTE:- हमारे द्वारा दी गई जानकारी को आप समाज में पहुंचाने का प्रयास करें ताकि सांप्रदायिक दंगे जो हरियाणा में भड़क रहे हैं उन्हें शांत किया जा सके

WHO IS MIPA GENGESTER KAITHAL

जो व्यक्ति सामान्यतः आप सोशल मीडिया पर देखते हैं उसका असली नाम संदीप बांगरू है जिसे हम सोशल मीडिया पर मिपा gangster Narayan yah MIPA बांगरू के नाम से जानते हैं यह कैथल के एक छोटे से गांव नर्ड का रहने वाला है इसकी आयु 22 वर्ष है इसकी पिता एक सामान्य किसान है इनकी माता सामान्य ग्रहणी है संदीप के कोई भी भाई नहीं है और इसकी कोई भी बहन नहीं है यह अपने माता-पिता का एक ही पुत्र है यह जाति जाट से बिलॉन्ग करता है

background of mipa Bangaru
मिपा बांगरू का इतिहास 

अगर हम इस के बचपन की बात करें तो यह एक सामान्य बच्चे की तरह ही रहा परंतु बाद में संदीप ने जुल्म की दुनिया में कदम रखने शुरू कर दी है और अपनी जिंदगी को नर्क बनाने की हर संभव कोशिश करने लगा इसी के चलते सामान्य लड़ाई इत्यादि होने लगी समय के साथ-साथ लड़ाइयां इतनी बढ़ गई कि इनके माता-पिता ने इन्हें 2016 में बेदखल कर दिया इसके पिता के द्वारा संदीप को चल और अचल संपत्ति से बेदखल कर दिया गया

mipa bangru का पहला जुल्म

इसके ऊपर एक व्यक्ति की हत्या करने उससे लूटपाट करने और अन्य व्यक्तियों को नुकसान पहुंचाने के मामले दर्ज है यह कैथल पुलिस के द्वारा पकड़ा गया और जेल भेज दिया गया परंतु कुछ समय के बाद इसे कोर्ट के द्वारा बेल मिल गई और यह पैरोल पर जेल से बाहर आ गया परंतु कोर्ट के द्वारा तय की गई समय सीमा जो पैरोल की होती है उस समय पर यह कोर्ट में पेश न होने के कारण मीपा बंगृ को भगोड़ा घोषित कर दिया गया परंतु जब तक कोर्ट के द्वारा यह निर्णय लिए गए उससे पहले संदीप के द्वारा भारत को छोड़ दिया गया था क्योंकि यह अमेरिका मैं चला गया था परंतु कैथल पुलिस के द्वारा बार-बार प्रयास किए गए

mipa gangster vs SC 

Mipa gangster kaithal

MIpa Bangaru के द्वारा कुछ समय बाद सोशल मीडिया पर एक जाति के लोगों को टारगेट करके उनकी मां बहनों को गालियां देनी शुरू कर दी इसमें जो मुख्य नाम लिए गए हैं वह चमार जाति और बाल्मीकि जाति के नाम लिए गए हैं इसके द्वारा Instagram पर live video करके अभद्र भाषा का उपयोग किया गया और एससी एसटी जाति की माताओं बहनों को गालियां दी गई और सांप्रदायिक दंगों को भड़काने की कोशिश की गई इसके द्वारा उठाए गए इस कदम से हरियाणा में अलग-अलग जिलों में दलितों द्वारा धरने प्रदर्शन किए गए परंतु यथाशक्ति बनी हुई है

SC-ST ACT FIR

MIpa Bangaru के खिलाफ अलग-अलग जिलों में एससी एसटी एक्ट के द्वारा एफआईआरबी की गई है तथा मामले को जल्द से जल्द सुलझा ने और सरकार को ध्यान देने के लिए धरने प्रदर्शन भी दलित वर्ग के द्वारा निकाले गए हैं प्रशासन जल्द ही इस मामले में संज्ञान लेते हुए कार्रवाई शुरू कर दी गई है

मामला क्या है

अगर हम मामले की बात करें तो जाट जाति के योग के द्वारा दलित वर्ग की जाति के माताओं बहनों को अभद्र भाषाओं में गालियां दी जा रही हैं और अलग-अलग प्रकार से धमकियां भी दी जा रही है यह मामला सोशल मीडिया फेसबुक और इंस्टाग्राम पर है अत्यधिक फैला हुआ है लोग इसका विरोध सोशल मीडिया के माध्यम से भी कर रहे हैं और धरने प्रदर्शन इत्यादि भी करके कर रहे हैं इसी के साथ दलित लोगों के द्वारा भी सोशल मीडिया पर जबाबी धमकियां दी जा रही हैं जिससे यह मामला द्विपक्षीय मतभेद हो चुका है जो जाटों और दलित वर्ग मैं देखने को मिल रहा है

Treading

Load More...